एसपीआरए से अधिवक्ताओं ने की निष्पक्ष जांच की मांग




अधिवक्ता के भाई को फर्जी तरीके से मुकदमें में फसाये जाने पर आक्रोश

कौडीराम गोरखपुर। कोतवाली बांसगाव अन्तर्गत बडा़बन निवासी अशोक कुमार की दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों में मृत्यु हो गयी थी।उस मुकदमे मे  अधिवक्ता के भाई को फर्जी तरीके से फसाने के बारे मे अधिवक्ताओं ने पुलिस अधीक्षक दक्षिणी को प्रार्थना पत्र देकर निष्पक्ष जांच की मांग की है।अधिवक्ताओं ने एसपीआरए को दिये प्रार्थना पत्र मे लिखा है कि मृतक के पुत्र अरुण कुमार द्वारा एक तहरीर देकर गोपाल सहाय श्रीवास्तव पुत्र स्व रामसहाय श्रीवास्तव व गौरव व अंकुर पुत्रगण गोपाल सहाय श्रीवास्तव व संजीव उर्फ सोनू सिंह पुत्र विजय प्रताप सिंह को आरोपी बनाया गया था। परन्तु बाद में राजनैतिक रंजिशवश उक्त तहरीर को बदल कर गलत व फर्जी आधार पर नई तहरीर तैयार कर बार के सम्मानित सदस्य कौशलेन्द्र कुमार सिंह के सगे भाई राघवेन्द्र सिंह का नाम बढाकर गलत व फर्जी तरीके से अभियुक्त बना दिया गया है। जिससे अधिवक्ता समुदाय मर्माहत है।अधिवक्ताओं ने  प्रार्थना पत्र के माध्यम से निवेदन किया है कि उक्त प्रकरण की स्वतन्त्र व निष्पक्ष जांच कराकर न्याय प्रदान करने की कृपा की जाये ताकि न्याय की गरिमा बनी रहे। उक्त मांग बार अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार शुक्ल,मंत्री जितेंद्र बहादुर शाही,कोषाध्यक्ष विनय कुमार मिश्र,वरिष्ठ उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार सिंह, उपाध्यक्ष व संयुक्त मंत्री के संयुक्त लेटर पैड पर किया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ