मिट्टी लदी ट्रैक्टर ट्राली को पुलिस ने पकड़ा तहसील प्रशासन को नहीं जानकारी



       सहजनवा गोरखपुर बांसगांव सन्देश। :- गीडा पुलिस की रवैया तो किसी के समझ मे ही नही आता है एक बार बोलती है कि खनन कर रही ट्रैक्टर ट्रॉली को हम बिना मजिस्ट्रेट के आदेश से पकड़ नही सकते और एक तरफ बिना ।मजिस्ट्रेट को सूचना दिए ही पकड़ लाये थाने पर।
        आपको बता दे कि सहजनवा थाना क्षेत्र के अंतर्गत  गीडा  पुलिस चौकी के बडगहन गांव के सामने राप्ती नदी के पास चल रहे खनन पर चौकी इंचार्ज पिपरौली द्वारा पहुंच कर ट्रैक्टर ट्राली को पकड़ कर थाने पर लाया गया जिसके बाद ग्रामीण और ट्रैक्टर मालिकों ने पुलिस पर मनमानी तरीके से गाड़ी उठा ले जाने पर काफी आक्रोश दिखा । अभी कुछ दिन पूर्व गीडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के क्षेत्रों में अवैध खनन माफियाओं का काफी बोलबाला नजर आ रहा था इसकी शिकायत ग्रामीण स्थानीय पुलिस से करते थे तो पुलिस द्वारा सीधे जवाब दिया जाता था की तहसील प्रशासन द्वारा तथा खनन विभाग द्वारा हम लोगों को कोई ऐसा आदेश नहीं दिया जाता है कि हम खनन की गाड़ियों को पकड़ सके और उन पर कोई कार्रवाई करें   तथा बिना किसी मजिस्ट्रेट के मौके पर रहते हुए मेरे द्वारा कोई कार्यवाही सुनिश्चित नहीं की जा सकती अगर पुलिस को खनन की गाड़ियों को पकड़ने का कोई अधिकार नहीं है तो फिर गीडा पुलिस द्वारा बडगहन में चल रहे खनन में चल रही गाड़ियों को चौकी इंचार्ज द्वारा किसके आदेश  से पकड़ी गई मामला तुल पकड़ता दिखा और गाड़ी ट्रैक्टर मालिक से बात की गई तो उनका कहना था हमारी जितनी भी गाड़ियां है सब रॉयल्टी परमिट पर चल रही है मेरे द्वारा चौकी इंचार्ज को परमिट की कॉपी दिखाने के बावजूद वह नहीं माने। हम लोगों की आए दिन गाड़ियां पकड़ के ले जाते हैं और परेशान भी करते हैं।  स्थानीय पुलिस हम लोगों की गाड़ियों को बिना किसी आदेश के बार-बार पकड़ कर ले जाती है। ट्रैक्टर मालिको ने ये आरोप लगाया कि जो दो नंबर की गाड़ियां अबैध तरीके से खनन करती है उन गाड़ियों पर पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जाती है ।लिहाजा हम लोगों को पुलिस द्वारा बार-बार परेशान किया जाता है ।इस क्रम में  नायब तहसीलदार  अमित सिंह से बात हुई  तो वहीं नायब तहसीलदार का कहना था कि पुलिस द्वारा पकड़ी गई गाड़ियों या हो रहे खनन के बारे में तहसील प्रशासन को कोई जानकारी नहीं  दी गई और अगर ऐसा मामला है तो  यह जांच का विषय है पुलिस द्वारा किसके आदेश से गाड़ियों को पकड़ा गया है ।वही पुलिस के अधिकारी एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी से बात हुई तो उन्होंने कहा इस मामले की कोई जानकारी हमें नहीं है और अगर ऐसा है तो जांच किया जाएगा और कार्यवाही भी की जाएगी वहीं जिला खनन अधिकारी से बात हुई तो उनका भी कहना था की गाड़ियां जो भी है वर्क परमिट रॉयल्टी बनी हुई है और उसकी जांच की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ