गोरखनाथ पुलिस ने हत्यारे को किया गिरफ्तार

*गोरखनाथ पुलिस ने हत्यारे को किया गिरफ्तार*

*डीजे बंद कराने को लेकर हुई थी हत्या एसपी सिटी ने किया खुलासा*


गोरखपुर। गोरखनाथ थाना क्षेत्र रिमझिम मैरिज हाउस में डीजे बंद कराने को लेकर मारपीट कर दुल्हन के चचेरे भाई को घायल कर दिया गया था जिसे अस्पताल में ले जाते समय मृत्यु हो गई थी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा ने पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर अपराध में संलिप्त अपराधियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था पुलिस अधीक्षक ने तत्परता दिखाते हुए क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ रत्नेश सिंह व थाना प्रभारी गोरखनाथ राजेन्द्र बहादुर सिंह  द्वारा घटना में संलिप्त अभियुक्त को रिमझिम मैरिज हॉल में लगे सीसी कैमरे के आधार पर गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की पुलिस लाइन वाइट हाउस सभागार में पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार ने प्रेस वार्ता कर बताया कि रिमझिम मेरे हाल डीजे बंद कराने के मामले में हत्या में संलिप्त राहुल चौधरी उर्फ शैलेश पुत्र सागर चौधरी निवासी ग्राम जंगल बिहुली पोस्ट पीपीगंज थाना पीपीगंज को आला कत्ल के साथ एचपी पैट्रोल पंप बरगदवा तिराहा से गिरफ्तार  किया गया जो रोहित सिंह उर्फ राहुल सिंह पुत्र हरिश्चंद्र सिंह निवासी ग्राम बिशुनपुर टोला रामनगर थाना चिलुआताल की गोरखनाथ थाना क्षेत्र के रिमझिम मैरिज हॉल में रविवार की देर रात डीजे बन्द कराने को लेकर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। 
रामनगर विशुनपुर के रहने वाले शेषनाथ सिंह की बेटी प्रियंका की शादी गोरखनाथ इलाके के रिमझिम मैरिज हॉल में रविवार की रात को थी। शादी में पीपीगंज इलाके के रामपति चौधरी के बेटे गौरव की बारात आई थी। बराती पक्ष देर रात तक डीजे पर डांस कर रहे थे। शादी की अन्य रस्में रुकी थीं। कई बार कहने पर भी डीजे पर डांस कर रहे युवक डीजे बंद कराने को तैयार नहीं हुए थे।
 इस बीच डांस कर रहे कुछ युवकों ने राहुल को पीट-पीटकर धायल कर दिए। घटना के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। परिवार के लोग राहुल को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।
। मृतक रोहित उर्फ राहुल अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। वह आईटीआई की पढ़ाई करने के साथ ही शटरिंग का भी काम करता था। जबकि मृतक के पिता हरिश्चंद्र राजगीर मिस्त्री का काम करते हैं। अभियुक्त गिरफ्तार कर लिए गए हैं लेकिन घर का चिराग एकलौता बेटा चला गया और चिराग जलाने वाला कोई नहीं बचा इसका भरपाई बराती या घराती कर पाएंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ